NewMsg: Blogs -->
BLOG KYA HAI? BLOG KAISE BANAYE
BLOG KYA HAI?
BLOG KYA HAI? BLOG KAISE BANAYE WITH 5 SIMPLE STEPS:
अधिकांश लोगों के लिए, ब्लॉग ऑनलाइन दुनिया में सभी के साथ विचारों, और रुचियों को साझा करने के अवसर का प्रतिनिधित्व करते हैं। यह एक वेबलॉग के विचार को खोलता है - ऑनलाइन डायरी। इंटरनेट पर एक डायरी की तरह है । और यह सबसे सफल और लोकप्रिय प्रकाशन के रूपों में से एक बन गया है। ब्लॉगर अक्सर केवल एक व्यक्ति नहीं होते हैं। वे विज्ञापनदाता, प्रभावशाली लोग हो सकते हैं। या विशिष्ट विषयों के विशेषज्ञ। इस लेख में, हम आपको मार्गदर्शन करेंगे और अपनी खुद की ब्लॉग साइट शुरू करेंगे।

ब्लॉग क्या है? ब्लॉग कैसे बनाये?
What is a blog concept? How to create a blog?


मुफ्त ब्लॉग प्रोवाइडर
Free Blog Provider

➤ सबसे लोकप्रिय प्रदाता वर्डप्रेस, ब्लॉगर.कॉम और tumblr.com हैं। ये प्लेटफॉर्म नए ब्लॉगर्स के लिए एक आकर्षक समाधान हैं। जो यह नहीं जानते कि एक ब्लॉग क्या है? यहाँ पर फ्री में एक ब्लॉग शुरू कर सकते है। बस कुछ ही क्लिक के साथ और बिना खर्च किए एक ब्लॉग साइट बना सकते हैं। आपको सर्वर, होस्टिंगया वेब डिज़ाइन जैसे विषयों के बारे में कोई तकनीकी जानकारी होने की आवश्यकता नहीं है। प्रोवाइडर यूजर के लिए अपडेट, बैकअप और एंटी-स्पैम का भी ध्यान रखता है।

➤ फ्री ब्लॉगिंग सेवा प्रदाता उन लोगों के लिए सही समाधान हो सकते हैं जो एक छोटा व्यक्तिगत ब्लॉग शुरू करना चाहते हैं।

➤ लेकिन वे पेशेवर ब्लॉगिंग वातावरण के लिए उपयुक्त नहीं हैं।

अपने बिजनेस के लिए एक इंडिपेंडेंट ब्लॉग कैसे शुरू करें?How to start an independent blog for your business?

⏩अपना एक व्यक्तिगत डोमेन नाम जो आपकी पसंद का इसके आलावा । ब्लॉग डिज़ाइन के सभी पहलुओं पर ब्लॉगर्स का नियंत्रण भी जरुरी है। सभी आप्शन को Customized और Personalize किया जा सकता हो। लेकिन यह एक Price के साथ आता है जिसमें शामिल हैं:

⏩ एक वेबसाइट की होस्टिंग की लागत (डोमेन के नाम सहित)

⏩ ब्लॉग होस्टिंग का Management । इस मामले में, ब्लॉगर पूरी तरह से ब्लॉग सामग्री पर केंद्रित है। जबकि सर्वर प्रदाता तकनीकी होस्टिंग के लिए जिम्मेदार है।

5 स्टेप में ब्लॉग कैसे बनाये
How to Create a blog in 5 steps

यह कैसे काम करता है, डोमेन नाम से ब्लॉग Structure के बारे में Step by Step गाइड यहां दी गई है।

5 स्टेप में ब्लॉग कैसे बनाये:

1. एक डोमेन नाम चुनें [Choose a domain name]

पहला कदम ब्लॉग के लिए एक उपयुक्त डोमेन खोजना है जो आपके ब्लॉग को सूटेबल हो। कई अलग-अलग कारक हो सकते है एक अच्छा डोमेन नाम बनने के लिए : व्यक्तिगत, संक्षिप्त और पहचानने योग्य जरुरी होता है । डोमेन नाम चुनते समय यह विचार करना महत्वपूर्ण है की आपके Target Audience क्या है । क्योंकि आप संभावित Visitors को Attracted करना चाहेंगे। बस अपने होस्टिंग Provider के साथ डोमेन नाम की जाँच करें ले क्या आपका डोमेन नाम उपलब्ध है यह भी जानना जरुरी है।

2. पंजीकरण [Registration]

एक बार जब आप उपयुक्त डोमेन नाम का चयन कर लेंगे। अगला कदम इसे चुने हुए होस्टिंग Provider के साथ Register करना है। आमतौर पर कुछ प्राइस रेंज होती हैं और उपलब्ध होस्टिंग पैकेज में वेब स्पेस, डेटा स्टोरेज और डोमेन कॉस्ट रहता है । यदि आपने वर्डप्रेस को अपना CMS बनाने का फैसला किया है। तो प्रोवाइडर सर्वर के रखरखाव सहित सभी तकनीकी Issue को नियंत्रित करेगा। चूँकि WordPress की CMS ब्लॉग साइट्स के लिए सबसे लोकप्रिय है। कई Suppliers अपने ग्राहकों को Management Solution भी Provide करते हैं।

 3. इनस्टॉल CMS [Install cms]

वर्डप्रेस एकमात्र विकल्प नहीं है। इसलिए आपको विभिन्न CMS प्रोग्राम की ऑफर से परिचित होने की आवश्यकता है। वर्डप्रेस के साथ, जूमला !, टाइपो 3, ब्लॉगर और ड्रुपल सबसे लोकप्रिय सिस्टम हैं। ये चार खुले सोर्स और सलूशन प्रोवाइडर हैं। जो शक्तिशाली ऑनलाइन सिस्टम को विकसित करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। एक बार फैसला ले लिया तो अब  CMS को बस इंस्टॉल करना होगा।

4. ब्लॉग शुरू करे  [Start a Blog]

जैसा कि पहले बताया गया है, वर्डप्रेस, जूमला !, टाइपो 3, और ड्रुपल ओपन सोर्स सिस्टम हैं। इसका मतलब है कि CMS स्थापित करना मुफ्त है। यूजर के पास कई मुफ्त थीम, प्लगइन्स और अन्य एक्सटेंशन है जिसे वो एक्सेस कर सकते है। एक वास्तविक ब्लॉग को HTML डिजाइन और knowledge से  Personalize करें।

5. ब्लॉग का Structure और प्लान [Blog Structure and Plan]

👉आपने एक ब्लॉग बनाया है। अब ब्लॉग लिखने का समय आ गया है.

👉सबसे पहले, आपको अपनी सामान्य संरचना पर विचार करना चाहिए। और आपको एक Specific Plan की आवश्यकता है। इसमें अब मूलभूत संरचनाएं जैसे Categories, Pages and Tags शामिल होंगे।

👉प्रत्येक ब्लॉग को एक स्पष्ट और सटीक विषय की आवश्यकता होती है। एक अच्छे ब्लॉगर को एक Suitable Position मिलता है। पाठकों की निष्ठा बनाने के लिए अपना Expert Opinion  दें। और अधिक अनुभव साझा करने के लिए प्रोत्साहित करें!

एक अच्छा ब्लॉगर बनने की राह आसान नहीं है। मगर जो भी है उसको समझाने की कोशिस करूँगा !!धन्यवाद!!  Follow the Next Article .

BLOG KYA HAI? BLOG KAISE BANAYE WITH 5 SIMPLE STEPS

Download Google Site Kit Wordpress Plugin

Download Google Site Kit WordPress Plugin 

गूगल साईट किट फॉर वर्डप्रेस [ Download Google Site Kit Wordpress Plugin : बहुत दिनों के बाद गूगल ने वर्डप्रेस के लिए अपना एक प्लगइन लौंच किया है | जब आप अपने वर्डप्रेस के डेशबोर्ड को ओपन करते है तो आपको साथ ही साथ गूगल के सर्च कंसोल, गूगल एनालिटिक्स, ऐडसेंस, और उनके कई सारे प्रोडक्ट्स उन सभी को ओपन करना पड़ता है अपना स्टेटस देखने के लिए की आज कितना अर्निंग हुआ, कितना विजिटर्स आये, कितना पेज क्रॉलर हो रहा है , कौन सा कीवर्ड ज्यादा सर्च में जा रहा है ये सब कुछ जानने के लिए आपको अलग अलग प्लगइन पर जाना पड़ता है या फिर अलग अलग पेज पर जाना पड़ता है | मगर पहले इस तरह की प्लगइन गूगल के हुआ करते थे

जो समय के साथ वर्डप्रेस से गायब हो गए मगर अब दुबारा से गूगल ने इन प्लगइन को एक साथ कस्टमाइज करके बीटा वर्शन में लौंच किया है जिसमे गूगल एनालिटिक्स [google analytics], ऐडसेंस, सर्च [search console] कंसोल, webmaster tools, पेजस्पीड इनसाइट्स, ये सब आपको मिलेंगे वो भी एक ही जगह पर ये बीटा वर्शन का जब फुल वर्शन आएगा तो शायद इससे भी कुछ ज्यादा मिल सकता है वो भी सिर्फ एक ही जगह पर जो की है बहुत ही काम की और अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए स्टेप्स को पढ़े !

इसे वर्डप्रेस पे इनस्टॉल करने के बाद स्टार्ट सेटअप पर क्लिक करे, यहाँ पर कुल पाँच स्टेपस में इसे पूरा करना पड़ेगा डेशबोर्ड खुलने के बाद Developers.google.web/sitekit पर क्लिक करे और इसके बाद अगले स्टेप्स में आपसे कुछ डिटेल्स माँगा जायेगा उसे आप भरे , इसके बाद Get Authenticate Credentials क्लीक करने पर जो कोड गेनेराते होगा उसे गूगल साईट किट के डेशबोर्ड पर पेस्ट कर देना है उसके बाद प्रोसीड पर क्लिक कर आगे बढ़ाना है और जिस ईमेल से आपका साईट बना है या जिसमे Adsense और गूगल एनालिटिक्स बना हुआ है उसे अपना परमिशन दे इसके बाद ये आटोमेटिक ही पूरा स्टेप्स को कम्पलीट कर लेता है और इनस्टॉल हो जाता है |

➤प्लगइन को अपने वर्डप्रेस में कैसे इनस्टॉल कर सकते है ?
➤कहाँ से डाउनलोड करना है ?

Google साइट किट विशेषताएं: [GOOGLE SITE KIT FEATURES]

⏩Seamless site verification with Search Console.
⏩Provisioning and configuration of Analytics, AdSense, Tag Manager and Optimize.
⏩Simple aggregate and per-page reporting from Search Console, Analytics, and AdSense, to help         you understand the full acquisition and monetization funnel.
⏩Continuous site performance auditing and monitoring with PageSpeed Insights.
⏩Insights we derive from across the products you’ve connected and surface on your dashboard, to         help you make sense of the stats.
यहाँ से साइट किट को डाउनलोड करे : DOWNLOAD

Using Site Kit on a staging environment 

⏩Make sure your production site is verified in Search Console.
Site verification is required as part of the setup flow for Site Kit. If your production site is already verified, you’re good to go.
Otherwise, since Site Kit can’t place a verification token on the production site, you’ll need to complete this step before you can go through the setup flow. Read more about the different methods to verify a site.
⏩Install and activate Site Kit, but DO NOT start the setup flow.
⏩Install and activate the helper plugin.
It will allow you to pull the stats from your production site to the staging version.
⏩In the helper plugin, add the URL of your live site in the Custom Site URL field (screenshot below). You don’t need to complete any of the other fields on that page.
⏩Start the setup flow for Site Kit.

Google साइट किट विशेषताएं: [GOOGLE SITE KIT FEATURES]


⏩उम्मीद करता हूँ ये पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा अगर अच्छा लगे तो सब्सक्राइब जरुर करे !


Download Google Site Kit Wordpress Plugin

How can You improve Your blogger site
How Can You Improve Your Blogger Site?
बेहतर लीड क्वालिटी के लिए ब्लॉग को बेहतर बनाना बहुत जरूरी है।ब्लॉग आमतौर पर एक व्यक्ति द्वारा लिखे गए होते हैं और नियमित रूप से अपडेट किए जाते हैं। ब्लॉग अक्सर एक विशेष विषय पर लिखे जाते हैं - ऐसे ब्लॉग होते हैं, जो वस्तुतः किसी भी विषय पर आप सोच सकते हैं और वो कुछ भी हो सकता है ।

फोटोग्राफी, आध्यात्मिकता से लेकर व्यंजनों तक, व्यक्तिगत डायरी से लेकर शौक तक - ब्लॉगिंग में उतने ही अनुप्रयोग और किस्में हैं जितनी आप कल्पना कर सकते हैं।ब्लॉग में आमतौर पर कुछ विशेषताएं होती हैं जो इस बारे में जानना जरुरी हो जाता है इन में से कुछ विशेष बाते है जिनका ख्याल रख कर एक अच्छा ब्लॉग या ब्लॉगर साईट बनया जा सकता है । जानने के लिए नीचे पढ़े .....

How Can You Improve Your Blogger Site:

How Can You Improve Your Blogger Site?


Top 5 google AdSense alternatives

Top 5 google AdSense alternatives for blogger and wordpress

अगर आपके पास AdSense का अप्रूवल नहीं है या फिर किसी भी वजह से सस्पैंड हो गया हो, तो हमारे दिमाग में हमेशा यही टेंशन रहती है की हमने इतनी मेहनत से ब्लॉगर या फिर वर्डप्रेस के अंदर वेबसाइट बनाया कंटेंट लिखा, पर बिना AdSense के हमारे पास इन-कम का कोई भी सोर्स नहीं है। तो दोस्तों आज मै आपको ऐसे अल्टरनेटिववो भी AdSense के बताने वाला हूँ जिससे आपको फास्ट अप्प्रोवेल भी मिलेगा और उनका CPC भी बहुत अच्छा है | अगर आपके पास कस्टम डोमेन नहीं है जैसे :- आपने ब्लॉगर में आपने कोई ब्लॉग बनाया है और उसमे कोई भी डोमेन नेम purchase करके उसमे ऐंड नहीं किया है तो भी आपको यहाँ से अप्प्रोवेल मिल जायेगा, तो आप लोग इसे एक बार ज़रुर इस्तेमाल करे !

इस ब्लॉग को पूरा ज़रूर पढ़े क्योंकि इससे आपको इससे बहुत बेनिफिट मिलने वाली है इसके अंदर जो वेबसाइट बताया हूँ वो गूगल AdSense से भी ज्यादा आपको रेवेनु देगी, पर वो सब कैसे ?

  1. क्या ये मंथली पे करता है या वीकली ?
  2. इसका मिनिमम पे-आउट कितना है ?
  3. इसके पेमेंट का तरीका कौन -कौन से है ?
[1] adsterra.com :-
सबसे पहले जो गूगल AdSense का अल्टरनेटिव है adsterra ये वेबसाइट बहुत अच्छी है यहाँ आपको फास्ट अप्रोवेल मिलेगा अगर आप इसमें advertise करना चाहते है तो advertise में क्लिक करेंगे अगर आप अपने ब्लॉगर के अंदर या फिर अपने वर्डप्रेस के अंदर  इसके ऐंड दिखाना चाहते है तो monetize पे क्लिक करके signup करेंगे ! इसके जो ऐड पार्टनर है वो बहुत बड़ी- बड़ी कम्पनी है |
तो इसका मिनिमम पेआउट 100 डॉलर है, Bit Coin, paypal, वायर ट्रान्सफर, वेब मनी, paxum, और epayment है ! वायर ट्रान्सफर को छोड़ कर सभी में 100 डॉलर से पेमेंट स्टार्ट है। ये महीने के 1-2 और 16-17 को पे-आउट निकलता है|
[2] clickadu.com :-
गूगल AdSense का अल्टरनेटिव है clickadu. इसका जो पेमेंट मेथड है crypto-wallets, ePayment, Paxum, paypal, Webmoney, wire आप जो भी पेमेंट मेथड को सेलेक्ट करेंगे। e-payment में मिनिमम पे-आउट 10 डॉलर है और इसमें कोई भी फ़ीस नहीं कटती इसके अलावा जो भी transaction मेथड है उसमे आपको चार्जेज काटेंगे यहाँ वीक-ली पेमेंट भी है,month में दो बार और मोंथ्ली भी पे आउट है | इसमें पब्लिशर पे क्लिक करके रजिस्टर करना है
ये जो ऐड नेटवर्क है ये affiliate मार्केटिंगपे काम करता है ! इसमें CPA (cost per action)अगर आप किसी से भी किसी भी तरह का फॉर्म फिल करवा लेते है या फिर कोई पप्रोडक्ट purchase करवा लेते है तो ये प्लेटफ़ॉर्म आपको उसमे से आपको परसेंटेज देगा और जो ये परसेंटेज है वो काफी अच्छी है | आपको इसमें affiliate में क्लिक करके signup करना है। इनका जो पे-आउट है वो वीक-ली पे आउट है इसमें काफी अच्छे रेट मिलते है , जितने भी ऐंड नेटवर्क है उससे नहीं कमा सकते जितना इससे कमा सकते है क्युकी ये affiliate मार्केटिंगपे ये काम करता है।

Top 5 Google Adsense Alternatives For Blogger And WordPress

What Is The Difference Between Individual And Business AdSense Account?

व्यक्तिगत और व्यावसायिक खाते के बीच अंतर क्या है?

अगर आप एक ब्लॉगर है ब्लॉग लिखते है  या फिर आप एक वेबसाइट चलते है या फिर आप ऐप्प डेवलपर है, ऐप्प डेवलप करते है और आप इन सबसे अर्निंग करना चाहते है तो आपको एक एडसेंसेस अकाउंट की जरुरत पड़ेगी! मगर इसका अकाउंट बनाने से पहले आपको ये जानना ज़रुरी है की हमें किस प्रकार का एडसेंसे अकाउंट की जरुरत है?

अब आपको कौन सा एडसेंसे अकाउंट बनाना चाहिए ? 

यहाँ एडसेंसे में दो तरह की अकाउंट होते है:-

[1] इंडिविजुअल एडसेंसे अकॉउंट 

[2] बिज़नेस एडसेंसे अकाउंट

आप इन दोनों में से किसी भी में से एडसेंसे का अकाउंट बना सकते है अगर आप इंडिविजुअल अकाउंट बनाना चाहते है तो इंडिविजुअल अकाउंट बनाये या फिर बिज़नेस एडसेंसे अकाउंट बना सकते है ये आपकी मर्ज़ी पर निर्भर करता है। आईये  जानते है की ......  

[1] इनमें क्या अंतर है ?

[2] कब इंडिविजुअल अकॉउंट बनाना चाहिए?

[3] कब बिज़नेस एडसेंसे अकॉउंट बनाना चाहिए?

[4] इनकी जरुरत कब पड़ती है?

What Is The Difference Between Individual And Business AdSense Account?
AdSense account

जब हम एडसेंसे में अकाउंट बनाते है तो वहाँ पर हम से गूगल द्वारा पूछा जाता है की आप ये अकाउंट इंडिविजुअल बना रहे है या फिर बिज़नेस के लिए बनाना चाहते है मगर जब हम सिर्फ एक एडसेंसे का अकाउंट ही चाहिए तो फिर बीच में बिज़नेस अकाउंट का क्या काम? इसमें हमें ये जानना ज़रुरी है की ये जो एडसेंसे का अकाउंट है सिर्फ वेबसाइट के लिए नहीं बनाया जाता बल्कि यूट्यूब के लिए भी किया जाता है, ऐप्प के लिए भी बनाया जाता है! ऐडसेंस तो एक होता है मगर इसका काम बहुत जगह पर लिया जाता है जिससे ऐंड प्रोवाइड किया जाता है बहुत सारे कम्पनी का, अगर आप ब्लॉगर है



तो आपके ब्लॉग पर ऐंड दिखाया जायेगा जितना  ज्यादा ब्लॉग लिखेंगे और डालेंगे अपने ब्लॉगर या वेब साइट पर उसपर उतना ही कम्पनी का ऐड दिखाया जाता है जिससे आपको अर्निंग होती है इस अर्निंग में से गूगल अपना शेयर काट करके हमें अपना शेयर हमारे अकाउंट में भेज देगा ! अब यहाँ ब्लॉगर या साइट या youtube चैनल आपका अपना है तो यहाँ पर आप इंडिविजुअल सेलेक्ट करेंगे एडसेंसे अकाउंट बनाते समय क्योंकि ये मेरा अपना पर्सनल ब्लॉगर,साइट,यूट्यूब चैनल है इसलिए ! अगर आपका बिज़नेस होता या कंपनी चलाते तो वहां पर उस कंपनी को अपना यूट्यूब चैनल भी बनाना पड़ता है वेबसाइट भी बनाना पड़ता है ,अब जैसे ई-कॉमर्स का बिज़नेस है तो उन्हें इन सब की जरुरत पड़ती है उनको ये बनाना ज़रुरी होता है अपने मार्केटिंग के लिए |
तो फिर इन दोनों में अंतर क्या है ?   
What Is The Difference Between Individual And Business AdSense Account?
AdSense account
एडसेंसे का जो पेमेंट करने का तरीका है उसमे कोई अंतर नहीं है पेमेंट वही 100 डॉलर पे ही मिलता है कोई अंतर नहीं है, इस जगह ऐडसेंस एक चीज बताता है जो की उसके द्वारा लिखित रूप में है अपने कमुनिटी में है वह इसमें साफ़ - साफ़ कहता है की जो इंडीविसुअल अकाउंट है उसमे पेयी के नाम पर पेमेंट देता हूँ पेयी का नाम जो उस adsense का अकाउंट होल्डर है | और  जो बिज़नेस अकाउंट है उसपर पेमेंट कंपनी नाम पर देते है मगर कई बार ऐसा होता है की कंपनी नाम एक व्यक्ति के नाम पर होता है पर इसमें कोई दिक्कत की बात नहीं है | पर ये बिज़नेस adsense की जरुरत कहाँ पड़ती है - youtube,ब्लॉगर , वेबसाइट, ऐप्प ये सब सोशल मीडिया पर चलाया जाता है अब एक कंपनी है या व्यक्ति है
उसके पास एक से ज्यादा youtube चैनल है वेबसाइट है जहाँ कई लोगो से काम लिया जाता है और इतना कुछ करने में  लोगो को कई चीजों की जरुरत पड़ती उन पर खर्च किया जाता है मान लेते है की उनकी इन-कम 5,00000/- से ज्यादा होती है तो उनको टैक्स देना पड़ता है मगर इतना अर्निंग करने में जो उनका खर्च हुआ है अगर वो इस चीज को दिखाते है तो उनको उसमे छूट मिलती है और कहाँ- कहाँ उन्होंने खर्च किया है जिसमे खर्च का ब्योरा देना पड़ता है इसलिए इस जगह पर बिज़नेस एडसेंसे अकॉउंट होना जरूरी हो जाता है | कुल मिला कर अपने बिज़नेस खातों को अपने व्यक्तिगत खातों से अलग करना आपकी कंपनी के वित्त का प्रबंधन [Management of finance] करना आसान बनाता है।
और एक जरुरी बात अगर आपने इंडिविजुअल अकाउंट की जगह गलती से बिजनेस अकाउंट बना लिया है और इसे बदलना चाहते है तो आप इसे नहीं चेंज कर सकते है इसलिए adsense का अकाउंट बनाते समय इन बातों का ख्याल रखना जरूरी है |
What Is The Difference Between Individual And Business AdSense Account?

What Is The Difference Between Individual And Business AdSense Account?

Subscribe Our Newsletter