Onam 2020 : ओणम का त्यौहार कब मनाया जाता है - Share Onam Photos and Messages on Whatsapp, Facebook | NewMsg | Online Offers | Mobile | Tech News -->

onam 2020
जाने ओणम त्योहार के बारे में क्यों मनाते हैं ओणम - इस पर्व का महत्‍व और पौराणिक कथा क्या है ? Onam2020 | Happy Onam Status | Qoutes | Onam Wishes and Images.


हम सभी जानते हैं कि हमारा देश सांस्कृतिक और धार्मिक विविधताओं का देश है। यहाँ का रंग उसकी भौगोलिक स्थिति जितना ही रंगीन है, और यहाँ के त्योहारों में भी विविधता देखने को मिलती है। भारत के विभिन्न कोनों में मनाए जाने वाले सांस्कृतिक उत्सवों की एक रंगीन तस्वीर देखते ही बनती है। 

केरल में भी ऐसा ही एक त्योहार मनाया जाता है। इस त्योहार की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस दिन लोग मंदिरों के बजाय अपने घरों में प्रार्थना करते हैं। कुछ क्षेत्रों में, यह विशेष रूप से फसल की उपज के लिए मनाया जाता है। 

श्रावण के महीने में, भारत की हर चीज़ में ऐसी हरियाली दिखाई देती है, लेकिन केरल में इस महीने में मौसम बहुत सुहावना हो जाता है। फसल कटाई की खुशी में, लोगों के मन में एक नई आशा और नया विश्वास जागता है। इस खुशी में, भगवान श्रवण और फूलों की देवी की पूजा हर घर में की जाती है।


पहली पौराणिक कथा:


इस त्योहार के बारे में कहा जाता है कि केरल में एक महाबली नाम का एक असुर राजा था, जिसके स्वागत में यहां के लोग ओणम का त्यौहार मनाते हैं। दैत्यराज बलि से जुड़े पुराणों में वर्णित कथा के अनुसार, राजा बलि की भलाई के कारण जनता उनकी प्रशंसा करती थी। 

उनकी प्रसिद्धि बढ़ती देखकर देवताओं को चिंता होने लगी, तब उन्होंने भगवान विष्णु से बात की। देवताओं की बात सुनकर भगवान विष्णु ने वामन का रूप धारण किया और राजा बलि से दान में तीन पग भूमि मांगी। भगवान वामन ने पृथ्वी और आकाश को दो चरणों में मापा। उसके पास तीसरा कदम रखने के लिए जगह नहीं थी। 

तब राजा बलि ने अपना सिर झुका लिया। भगवान वामन ने अपने पैरों से राजा को पाताल लोक भेजा, लेकिन उससे पहले राजा बलि ने साल में एक बार अपनी प्रजा से मिलने आने की आज्ञा मांगी। सदियों से, यह धारणा रही है कि ओणम के दिन, राजा बलि अपनी प्रजा से मिलने आते हैं और इस खुशी में मलयाली समाज उन्हें मनाता है।

दूसरी पौराणिक कथा:


इस पर्व से जुड़ी एक अन्य कथा के अनुसार, जब परशुराम ने क्षत्रियों से संपूर्ण पृथ्वी को जीत लिया और उन्हें ब्राह्मणों को दान कर दिया, तो उनके पास रहने के लिए कोई स्थान नहीं बचा था। फिर उन्होंने सोहागी पर्वत की गुफा में बैठकर जल देवता वरुण का ध्यान किया। 

उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर वरुण देवता ने परशुराम जी को दर्शन दिए और कहा कि जहां तक तुम्हारा फरसा समुद्र में जाकर गिरेगा वहां तक समुद्र का जल सूख कर पृथ्वी बन जाएगा। सारी पृथ्वी तुम्हारी होगी और उसका नाम परशु क्षेत्र होगा। परशुराम ने ऐसा ही किया और उन्हें समुद्र में मिली ज़मीन को वर्तमान में केरल या मलयालम के नाम से जाना जाता है। 

परशुरामजी ने समुद्र से भूमि प्राप्त की और वहाँ भगवान विष्णु का मंदिर बनवाया। वही मंदिर आज भी अपने नाम 'तिरूक्ककर अप्पण' से प्रसिद्ध है। जिस दिन परशुराम ने मंदिर में मूर्ति स्थापित की थी वह श्रावण शुक्ल की त्रयोदशी थी और उसी दिन से उनका प्रसिद्ध त्योहार मनाया जाने लगा।

इस समय के दौरान, केरल की सांस्कृतिक विरासत देखते ही बनती है। इस अवसर पर, पूरे केरल में नृत्य संगीत और महाभोज कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। यह त्योहार भारत के सबसे रंगीन त्योहारों में से एक है। लेकिन दस दिनों तक चलने वाले इस त्योहार को 2020 में प्रकृति और मानवीय कारणों का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है ।

दरअसल, इस बार केरल के साथ- साथ पुरे देश में COVID-19 की त्रासदी ने इस त्योहार की खुशियों को ग्रहण करने का काम किया। हमें उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में वे अपने परिचित शैली में खुशी मनाएंगे और केरल के लोगों में फिर से हरियाली लाएंगे।

ओणम के इस त्यौहार के शुभ अवसर पर हम अपने आस -पास एक ख़ुशियों का माहौल बनाये तथा अपने परिवार और प्रिय जानो के साथ सोशल डिस्टेंसिंग  का पालन करते हुए अपने सोशल मीडिया  फेसबुक, व्हाट्सएप, टि्वटर, इंस्टाग्राम में फोटो और इमेजेस तथा बधाई संदेश लेकर अपनी ख़ुशियों का इज़हार करें !

Onam Quotes, Wishes and Images

Onam Quotes, Wishes and Images
"On This Auspicious Occasion
Of onam 2020 Make A Wish
And It Shall Come True Because
God Is The Lord Of Faith and happiness
Who Is Always Watching You."
Onam Quotes, Wishes and Images
"May God bless you and fill your heart with joy & happiness.
May the color and lights of Onam
fill your home with happiness and joy.
Have the most beautiful Onam."
Onam Quotes, Wishes and Images

"May God bless you, and the color & lights of Onam fill your home with happiness and joy.  ”

HAVE A HAPPY ONAM


Onam Quotes, Wishes and Images

May the spirit of Onam remains everywhere whatever you do,
whatever you think whatever you hope in your life
"Wish you a Happy Onam"


Onam Quotes, Wishes and Images

“  May the colours of Onam make your life colorful and vibrant. May you have the sweetness of Payasam at every moment. May you get all the happiness of harvest and find prosperity in your house.  ”Wishing a very Happy Onam to you and your family. ”


Onam Quotes, Wishes and Images
"Forever remembering thoughts of happiness
& prosperity with all sweet Onam days.  ”
Happy Onam

अगर आप भी इस केरल त्योहार के बारे में कुछ साझा करना चाहते हैं, तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट में बता सकते हैं।

Onam 2020 : ओणम का त्यौहार कब मनाया जाता है - Share Onam Photos and Messages on Whatsapp, Facebook

onam 2020
जाने ओणम त्योहार के बारे में क्यों मनाते हैं ओणम - इस पर्व का महत्‍व और पौराणिक कथा क्या है ? Onam2020 | Happy Onam Status | Qoutes | Onam Wishes and Images.


हम सभी जानते हैं कि हमारा देश सांस्कृतिक और धार्मिक विविधताओं का देश है। यहाँ का रंग उसकी भौगोलिक स्थिति जितना ही रंगीन है, और यहाँ के त्योहारों में भी विविधता देखने को मिलती है। भारत के विभिन्न कोनों में मनाए जाने वाले सांस्कृतिक उत्सवों की एक रंगीन तस्वीर देखते ही बनती है। 

केरल में भी ऐसा ही एक त्योहार मनाया जाता है। इस त्योहार की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस दिन लोग मंदिरों के बजाय अपने घरों में प्रार्थना करते हैं। कुछ क्षेत्रों में, यह विशेष रूप से फसल की उपज के लिए मनाया जाता है। 

श्रावण के महीने में, भारत की हर चीज़ में ऐसी हरियाली दिखाई देती है, लेकिन केरल में इस महीने में मौसम बहुत सुहावना हो जाता है। फसल कटाई की खुशी में, लोगों के मन में एक नई आशा और नया विश्वास जागता है। इस खुशी में, भगवान श्रवण और फूलों की देवी की पूजा हर घर में की जाती है।


पहली पौराणिक कथा:


इस त्योहार के बारे में कहा जाता है कि केरल में एक महाबली नाम का एक असुर राजा था, जिसके स्वागत में यहां के लोग ओणम का त्यौहार मनाते हैं। दैत्यराज बलि से जुड़े पुराणों में वर्णित कथा के अनुसार, राजा बलि की भलाई के कारण जनता उनकी प्रशंसा करती थी। 

उनकी प्रसिद्धि बढ़ती देखकर देवताओं को चिंता होने लगी, तब उन्होंने भगवान विष्णु से बात की। देवताओं की बात सुनकर भगवान विष्णु ने वामन का रूप धारण किया और राजा बलि से दान में तीन पग भूमि मांगी। भगवान वामन ने पृथ्वी और आकाश को दो चरणों में मापा। उसके पास तीसरा कदम रखने के लिए जगह नहीं थी। 

तब राजा बलि ने अपना सिर झुका लिया। भगवान वामन ने अपने पैरों से राजा को पाताल लोक भेजा, लेकिन उससे पहले राजा बलि ने साल में एक बार अपनी प्रजा से मिलने आने की आज्ञा मांगी। सदियों से, यह धारणा रही है कि ओणम के दिन, राजा बलि अपनी प्रजा से मिलने आते हैं और इस खुशी में मलयाली समाज उन्हें मनाता है।

दूसरी पौराणिक कथा:


इस पर्व से जुड़ी एक अन्य कथा के अनुसार, जब परशुराम ने क्षत्रियों से संपूर्ण पृथ्वी को जीत लिया और उन्हें ब्राह्मणों को दान कर दिया, तो उनके पास रहने के लिए कोई स्थान नहीं बचा था। फिर उन्होंने सोहागी पर्वत की गुफा में बैठकर जल देवता वरुण का ध्यान किया। 

उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर वरुण देवता ने परशुराम जी को दर्शन दिए और कहा कि जहां तक तुम्हारा फरसा समुद्र में जाकर गिरेगा वहां तक समुद्र का जल सूख कर पृथ्वी बन जाएगा। सारी पृथ्वी तुम्हारी होगी और उसका नाम परशु क्षेत्र होगा। परशुराम ने ऐसा ही किया और उन्हें समुद्र में मिली ज़मीन को वर्तमान में केरल या मलयालम के नाम से जाना जाता है। 

परशुरामजी ने समुद्र से भूमि प्राप्त की और वहाँ भगवान विष्णु का मंदिर बनवाया। वही मंदिर आज भी अपने नाम 'तिरूक्ककर अप्पण' से प्रसिद्ध है। जिस दिन परशुराम ने मंदिर में मूर्ति स्थापित की थी वह श्रावण शुक्ल की त्रयोदशी थी और उसी दिन से उनका प्रसिद्ध त्योहार मनाया जाने लगा।

इस समय के दौरान, केरल की सांस्कृतिक विरासत देखते ही बनती है। इस अवसर पर, पूरे केरल में नृत्य संगीत और महाभोज कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। यह त्योहार भारत के सबसे रंगीन त्योहारों में से एक है। लेकिन दस दिनों तक चलने वाले इस त्योहार को 2020 में प्रकृति और मानवीय कारणों का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है ।

दरअसल, इस बार केरल के साथ- साथ पुरे देश में COVID-19 की त्रासदी ने इस त्योहार की खुशियों को ग्रहण करने का काम किया। हमें उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में वे अपने परिचित शैली में खुशी मनाएंगे और केरल के लोगों में फिर से हरियाली लाएंगे।

ओणम के इस त्यौहार के शुभ अवसर पर हम अपने आस -पास एक ख़ुशियों का माहौल बनाये तथा अपने परिवार और प्रिय जानो के साथ सोशल डिस्टेंसिंग  का पालन करते हुए अपने सोशल मीडिया  फेसबुक, व्हाट्सएप, टि्वटर, इंस्टाग्राम में फोटो और इमेजेस तथा बधाई संदेश लेकर अपनी ख़ुशियों का इज़हार करें !

Onam Quotes, Wishes and Images

Onam Quotes, Wishes and Images
"On This Auspicious Occasion
Of onam 2020 Make A Wish
And It Shall Come True Because
God Is The Lord Of Faith and happiness
Who Is Always Watching You."
Onam Quotes, Wishes and Images
"May God bless you and fill your heart with joy & happiness.
May the color and lights of Onam
fill your home with happiness and joy.
Have the most beautiful Onam."
Onam Quotes, Wishes and Images

"May God bless you, and the color & lights of Onam fill your home with happiness and joy.  ”

HAVE A HAPPY ONAM


Onam Quotes, Wishes and Images

May the spirit of Onam remains everywhere whatever you do,
whatever you think whatever you hope in your life
"Wish you a Happy Onam"


Onam Quotes, Wishes and Images

“  May the colours of Onam make your life colorful and vibrant. May you have the sweetness of Payasam at every moment. May you get all the happiness of harvest and find prosperity in your house.  ”Wishing a very Happy Onam to you and your family. ”


Onam Quotes, Wishes and Images
"Forever remembering thoughts of happiness
& prosperity with all sweet Onam days.  ”
Happy Onam

अगर आप भी इस केरल त्योहार के बारे में कुछ साझा करना चाहते हैं, तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट में बता सकते हैं।
Load Comments

Subscribe Our Newsletter

Notifications

Disqus Logo